Tuesday, October 4, 2022
Homeक्राइमCyber Crime के मामलों में 60 प्रतिशत का उछाल देख अलर्ट हुआ...

Cyber Crime के मामलों में 60 प्रतिशत का उछाल देख अलर्ट हुआ गृहमंत्रालय, रोक लगाने के लिए स्कूल व कॉलेजों में शुरू कराया ये अभियान

देश में बढ़ते डिजिटलाइजेशन के साथ ही साइबर अपराध भी दोगुनी तेजी से बढ़ रहा है। हर दिन साइबर ठग (Cyber Fraud) फोन कॉल, लिंक और मैसेज के जरिये अपनी बातों में उलझाकर भारी भरकम रुपया ऐंठ रहे हैं। यही वजह है कि पिछले कुछ ही ही समय में साइबर क्राइम में 60 प्रतिशत का उछाल आया है।

यह आंकड़ा गृह मंत्रालय द्वारा साइबर क्राइम की शिकायत के लिए बनाये गये एनसीआरपी (NCRP) यानि नेशनल साइबर क्राइम रिपोर्टिंग पोर्टल पर दर्ज शिकायतों को देखकर निकाला गया है। साइबर अपराध पर अंकुश लगाने के लिए गृह मंत्रालय ने स्कूल और कॉलेजों को अभियान का प्रमुख हिस्सा चुना है।

ALSO READCyber Crime की रिपोर्टिंग के लिए गृह मंत्रालय ने जारी किया नया हेल्पलाइन नंबर, अब 155260 की जगह 1930 नंबर पर करें कॉल

गृह मंत्रालय द्वारा जारी आदेश में हर माह के बुधवार को साइबर जागरूकता दिवस के रूप में मनाये जाने का ऐलान किया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स में लगातार इस संबंध में खबरें छापी जा रही हे। सरकार ने साइबर क्राइम के आंकड़े और इसे जल्द ही निपटाने के लिए कई अहम कदम उठाये हैं।

इनमें साइबर क्राइम रिपोर्टिंग पोर्टल यानी एनसीआरपी भी शामिल है। जिसे हाल ही में लॉच किया गया था। इसका उद्देश्य लोगों के साथ हो रही ठगी के मामलों की ऑनलाइन रिपोर्टिंग और मॉनिटरिंग करना था। जिसे साइबर अपराध का सही आंकलन कर अपराधियों पर नकेल कसी जा सके।

ALSO READ: Nigerian Fraud ने Instagram पर दोस्ती कर 3.21 लाख की ठगी की, नर्स को 20 हजार पाउंड का Gift भेजने का दिया था झांसा

एनसीआरपी पोर्टल पर दर्ज मामलों में साइबर ठगी के 60 प्रतिशत मामले आर्थिक हैं। ऐसे में साफ है कि ज्यादातर साइबर ठग अलग अलग टेक्निक का इस्तेमाल कर लोगों को वित्तीय नुकसान पहुंचा रहे हैं। सरकार से लेकर साइबर क्राइम सेल टीम इन्हें रोकने का प्रयास कर रही है। 

साइबर क्राइम पर अंकुश लगाने के लिए जागरूकता ही है सबसे बड़ा हथियार

साइबर क्राइम पर रोक लगाने के लिए सबसे बड़ा हथियार जागरूकता है। जितने ज्यादा लोग इंटरनेट से लेकर साइबर ठगों की ट्रिक को जानेंगे। उनके झांसों में आने से पहले जागरूक रहेंगे। उतना ही नहीं साइबर क्राइम पर लगाम लगेगी।

इसी को देखते हुए गृह मंत्रालय ने हर माह के बुधवार को कॉलेज और स्कूलों में साइबर जागरूकता दिवस के तौर पर मनाना तय किया है। इस अभियान के तहत बच्चों और नौजवानों को साइबर अपराधियों की ट्रिक बताकर क्या करें और क्या न करें। संबंधित जानकारी देकर साइबर अपराध के प्रति जागरूक किया जाएगा। 

ALSO READ: जज से लेकर DGP की WhatsApp प्रोफाइल बनाकर ठगी कर रहे साइबर क्रिमिनल्स, जानें कैसे फैला रहे हैं अपना जाल

अब तक हो चुकी हैं ये पहल

-गृह मंत्रालय द्वारा साइबर अपराध पर अंकुश लगाने के लिए सबसे पहला कदम साइबर क्राइम रिपोर्टिंग पोर्टल बनाकर किया गया है। https://www.cybercrime.gov.in पर देश भर के लोग साइबर क्राइम होने पर शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

-सरकार द्वारा साइबर क्राइम पीड़ितों के लिए एक हेल्प लाइन नंबर 1930 भी शुरू किया गया है। इस टोल फ्री नंबर पर 24 घंटे में कभी भी शिकायत की जा सकती है।

– स्कूल और कॉलेज स्टूडेंट्स को साइबर क्राइम की जानकारी देने के साथ ही ऑनलाइन पोर्टल, हेल्पलाइन नंबर आदि दिये गये हैं। ताकी वह ठगी होने पर तुरंत रिपोर्ट कर सकें। दूसरों को भी बता सकें।

– सरकार छात्रों द्वारा उनके यार, रिश्तेदार, संबंधी, पड़ोसी और समाज को संदेश देने के लिए जागरूकता अभियान शुरू करने जा रही है।

Follow The420.in on

 Telegram | Facebook | Twitter | LinkedIn | Instagram | YouTube

Subscribe to our newsletter

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.

Most Popular

Recent Comments