मुंबई में फिर से बड़ा साइबर अटैक, MIDC का सर्वर हैक, मांगी 500 करोड़ की साइबर फिरौती

MIDC Server hack : मुंबई में पावर ब्लैक आउट के बाद एक बार फिर से बड़ा साइबर अटैक हुआ है। इस बार MIDC का सर्वर हैक कर 500 करोड़ रुपये की साइबर फिरौती मांगी गई है। जानें पूरा मामला

MIDC Server Hacked
MIDC Server Hack

Cyber Attack in Mumbai : महाराष्ट्र में एक बार फिर से बड़ा साइबर अटैक हुआ है। इस बार अटैक महाराष्ट्र इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट कॉरपोरेशन (MIDC) के सर्वर पर हुआ है। MIDC का सर्वर हैक (MIDC Server Hack) हो गया है। बताया जा रहा है कि पिछले सोमवार से ही सर्वर बंद है। सिस्टम को ऑन करते ही एरर (Error) आ रहा है। अब एमआईडीसी के ऑफिसियल ईमेल पर हैकर ने 500 करोड़ रुपये मांगे हैं।


यानी ये साफ हो गया है कि साइबर क्रिमिनल ने सर्वर हैक कर साइबर फिरौती मांगी है। जिसे नहीं देने पर सर्वर पर स्टोर सभी डेटा को डिलीट करने की धमकी भी दी गई है। बता दें कि इस सर्वर पर एमआईडीसी (MIDC) की सभी योजनाओं और उद्योगों के बारे में जानकारी है। एमआईडीसी के सभी 16 प्रादेशिक कार्यालयों का काम इसी सर्वर से जुड़ा है। इसके हैक होने से सभी कार्यालयों के कामकाज पूरी तरह से ठप हैं। इससे पहले, मुंबई में पावर ब्लैकआउट होने में साइबर अटैक की बात सामने आ चुकी है।

हैकर भारतीय या विदेशी, जांच शुरू

बताया जा रहा है कि एमआईडीसी अधिकारियों की तरफ से इस बारे में जानकारी दे दी गई है। इसमें साइबर पुलिस और साइबर एक्सपर्ट की मदद ली जा रही है। इस मामले में साइबर एक्सपर्ट ने एमआईडीसी को सारा डेटा रिस्टोर करने की सलाह दी है। इसके साथ ही साइबर सेल भी मामले की जांच कर रही है। ये पता लगाया जा रहा है कि सर्वर हैक करने में किसी विदेशी का हाथ है या किसी भारतीय का। हालांकि, इस बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं मिल पाई है।

कोई वैकल्पिक व्यवस्था करने की मांग

एमआईडीसी का डेटा हैक होने की वजह से पूरा काम ठप पड़ गया है। जिस तरह से मुंबई में पिछले साल ब्लैकआउट हुआ था। उसी तरह से इस बार योजनाओं से जुड़े काम रुक गए हैं। ऐसे में जब तक सर्वर रिस्टोर नहीं हो जाता है कि विभागीय अधिकारियों ने कोई वैकल्पिक व्यवस्था शुरू करने की मांग की है। हालांकि, अभी तक कोई ऐसी व्यवस्था शुरू नहीं हो पाई है।

बता दें कि इससे पहले भी मुंबई और उसके आसपास की बिजली गायब होने के मामले में भी चीनी साइबर अटैक पर गृह मंत्री अनिल देशमुख और ऊर्जा मंत्री नितिन राउत ने बयान दिए थे। जिसके अनुसार चीन के द्वारा महाराष्ट्र में हैकर एक्टिव होने की बात कही गई थी। इस मामले में भी ऐसे ही किसी बड़े हैकर ग्रुप के होने का अंदेशा जताया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here