Saturday, November 27, 2021
Homeक्राइमकूरियर कंपनी का कर्मचारी बनकर साइबर ठगों ने तीन लोगों को बनाया...

कूरियर कंपनी का कर्मचारी बनकर साइबर ठगों ने तीन लोगों को बनाया शिकार, 3.02 लाख रुपये ठगा

हाल ही में मुंबई में साइबर ठगों ने कूरियर कंपनी का कर्मचारी बनकर तीन लोगों के बैंक खातों से लगभग 3.02 लाख रुपये निकाल लिए। जालसाजों ने रजिस्ट्रेशन और एडवांस पेमेंट लेने के बहाने उनके खाते में पैसे ट्रांसफर करवा लिए। तीनों पीड़ित ऑनलाइन कूरियर इस्तेमाल करने की कोशिश में साइबर धोखाधड़ी के शिकार हो गए। जानकारी के अनुसार ठगों ने इंटरनेट सर्च इंजन पर बड़े कूरियर कंपनियों के तौर पर अपना नंबर अपलोड कर दिया था।

इंडिया एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, मामले में पहला एफआईआर 6 नवंबर को क्रॉफर्ड मार्केट के पास एलटी मार्ग पुलिस स्टेशन में दर्ज की गई थी। शिकायत के मुताबिक 61 साल की एक महिला पुणे में रहने वाले अपने बेटे को कूरियर से हलफनामा (Affidavit) भेजना चाहती थी। उसे गूगल से ब्लू डार्ट का नंबर मिला, जो नकली था और वह ठगों के जाल में फंस गई। जालसाज ने उसे एनीडेस्क ऐप डाउनलोड और इंस्टॉल कराया और उससे प्रोसेसिंग फीस के रूप में 5 रुपये देने को कहा।

जब उसने अपने मोबाइल पर बैंकिंग डीटेल्स भरा, तो जालसाज ने इसे देख लिया और उसके खाते से छह ट्रांजेक्शन में 91 हजार रुपये ट्रांसफर कर लिए। इसी तरह दूसरा मामला उसी दिन दहिसर थाने में दर्ज किया गया। एक एनजीओ में काम करने वाली 43 वर्षीय शिकायतकर्ता को डीटीडीसी सेवा का उपयोग करके कुछ मिठाई भेजना चाहती थी। पार्सल में देरी होने पर उसने सर्च इंजन पर कूरियर सर्विस का नंबर सर्च किया।

खार (पश्चिम) के एक 27 वर्षीय महिला पेशे से फिल्म निर्माता ने भी 8 नवंबर को खार पुलिस स्टेशन में एक प्राथमिकी दर्ज कराई थी। उसके ऑफिस बॉय ने गूगल से सर्च करके उसे ब्लू डार्ट का नंबर दिया। नंबर फर्जी था और जालसाज ने उसे एक लिंक भेजकर अपनी व्यक्तिगत जानकारी भरने को कहा। उसके बाद उसके खाते से कुल 16 ट्रांजेक्शन में करीब 1.62 लाख रुपये निकाले गए।

Follow The420.in on

 Telegram | Facebook | Twitter | LinkedIn | Instagram | YouTube

Subscribe to our newsletter

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.

Most Popular

Recent Comments