कोरोना वैक्सीन की एडवांस बुकिंग कराने के नाम पर ऐसे हो रहा है साइबर फ्रॉड, रहें अलर्ट

हैलो! नमस्कार, हम कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) की एडवांस बुकिंग कर रहे हैं। क्या आप चाहते हैं कि डॉक्टरों से पहले आपको कोरोना वैक्सीन लग जाए। इसके लिए आपको सिर्फ आधार-पैन कार्ड और कुछ अन्य जरूरी डिटेल बताना है। आपसे कोई भी पिन या पासवर्ड नहीं पूछा जाएगा। ....अगर ऐसी कोई कॉल आए तो समझ जाइए कि ये साइबर फ्रॉड है।

corona fraud call

Cyber Crime Latest News : देश में अभी कोरोना वैक्सीन नहीं आई लेकिन इसके नाम पर साइबर फ्रॉड (Corona Vaccine Cyber Fraud) शुरू हो चुका है। देशभर में लोगों को कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) की एडवांस बुकिंग के लिए फोन कर ठगी हो रही है। अगर आपके पास भी ऐसी कॉल आए तो सावधान हो जाइए। इस समय काफी संख्या में कोरोना वैक्सीन की एडवांस बुकिंग (Corona Vaccine Advance Booking) के नाम पर लाखों रुपये की ठगी की जा चुकी है। ये फ्रॉड उन लोगों के साथ भी हो रहा है जिन्हें कोरोना हुआ था और ठीक होकर घर पर आ चुके हैं। ऐसे लोगों की डिटेल लेकर उन्हें कॉल कर ठगा जा रहा है। अभी हाल में भोपाल, गाजियाबाद, फरीदाबाद और अन्य कई शहरों में ऐसे फ्रॉड के दर्जनों मामले सामने आ चुके हैं।

डॉक्टर से पहले क्या आप कोरोना वैक्सीन की बुकिंग कराना चाहते हैं?

ये साइबर फ्रॉड (Cyber Fraud Call) फोन पर कहते हैं वे कोरोना वैक्सीन की एडवांस बुकिंग कर रहे हैं। क्योंकि भारत में कोरोना वैक्सीन आने के बाद सरकार सबसे पहले कोरोना फ्रंट वॉरियर्स डॉक्टरों को वैक्सीन देगी। इसके बाद सीनियर सिटिजन और वीआईपी लोगों को वैक्सीन लगेगी। ऐसे में आम लोगों तक वैक्सीन पहुंचने में कई महीने लग जाएंगे और कीमत भी बढ़ जाएगी। इसलिए हमारी संस्था एडवांस में कोरोना वैक्सीन की बुकिंग (Corona Vaccine Advance Booking) कर रही है। अगर आप बुकिंग कराते हैं तो वैक्सीन आपको तुरंत मिल जाएगी। साइबर क्रिमिनल (Cyber Criminal) ये भी कहते हैं कि वे एडवांस में कोई पैसे नहीं मांग रहे हैं। इसके लिए बस आधार नंबर, बैंक डिटेल्स और वेरिफिकेशन कोड की मांग कर रहे हैं। जिससे वैक्सीन आते ही आपकी बुकिंग की पहचान करने में आसानी होगी। इस डिटेल के मिलते ही साइबर क्रिमिनल लोगों के फोन पर आए OTP नंबर को वेरिफिकेशन कोड बताकर पूछ लेते हैं। इसके बाद बैंक खाते को खाली कर दे रहे हैं।

कंप्यूटराइज्ड रिकॉर्डेड वॉयस कॉल से कर रहे हैं फ्रॉड, ताकी विदेशी कॉल लगे

लोगों को झांसे में लेने के लिए साइबर फ्रॉड (Cyber Fraud) कंप्यूटराइज्ड रिकॉर्डेड वॉयस का भी इस्तेमाल कर रहे हैं। दरअसल, ये बेहद ही आसान है। क्योंकि किसी लिखी हुई स्क्रिप्ट को कंप्यूटर के जरिए वॉयस रिकॉर्ड कर लेते हैं और फिर उसे ही कॉलर को सुनाकर ये बता देते हैं कि ये फोन विदेशी महिला ने किया है। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल और दिल्ली से सटे फरीदाबाद में कई लोगों को ऐसी कॉल आ चुकी है। इसलिए ऐसी कॉल से भी गुमराह नहीं हों और बैंक से जुड़ी कोई भी डिटेल शेयर ना करें। क्योंकि भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने स्पष्ट किया है कि देश में कोरोना वैक्सीन की कोई बुकिंग नहीं हो रही है।

ये भी जानें : वैक्सीन आएगी तो कैसे आप तक पहुंचेगी

राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम के तहत देश में कोरोना वैक्सीन लगेगी। इसके लिए देशभर में तैयारी की जा रही है। अभी हाल में भारत सरकार ने जानकारी दी कि 28 दिसंबर को कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine Latest News) की पहली खेप आने की संभावना है। शुरुआत में भारत सरकार की तरफ से उन लोगों को वैक्सीन लगेगी जो फ्रंट वॉरियर की भूमिका में है। देश भर में जनवरी 2021 से वैक्सीन लगाए जाने की उम्मीद है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन के मुताबिक, 260 जिलों में 20,000 से ज्‍यादा लोगों को ट्रेनिंग मिल भी चुकी है। देशभर में हर जिले के स्वास्थ्य विभाग की तरफ से लोगों को मैसेज और अन्य तरीके से सूचना देकर टीकाकरण की जानकारी दी जाएगी। इसके लिए जल्द ही भारत सरकार की तरफ से गाइडलाइन भी जारी की जाएगी। इसलिए जब तक कोई गाइडलाइन नहीं आती है तब तक किसी के फोन करने पर भरोसा ना करें।

ऐसे हो रही है ठगी

  • साइबर ठग फोन कर कहते हैं कि आपको डॉक्टर से पहले कोरोना वैक्सीन चाहिए?
  • अभी बुकिंग करते हैं तो कुछ एक्स्ट्रा चार्ज देना पड़ेगा और वैक्सीन पहले स्लॉट में मिलेगी।
  • बुकिंग कराने के लिए आधार, पैन नंबर के साथ बैंक खाता और एटीएम डिटेल मांगते हैं
  • मोबाइल नंबर पर आए ओटीपी को वेरिफिकेशन या कन्फर्मेशन कोड बता करते हैं ठगी
  • इसलिए फोन पर वैक्सीन बुकिंग करने वालों से रहें अलर्ट और बैंक की डिटेल नहीं दें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here