Friday, August 12, 2022
Homeक्राइमअब आधार में सेंध लगाकर लोगों को चूना लगा रहे साइबर ठग,...

अब आधार में सेंध लगाकर लोगों को चूना लगा रहे साइबर ठग, साइबर विशेषज्ञ भी हैरान, कानपुर में मामला आया सामने

साइबर ठग आधार की सुरक्षा भेदकर इससे लिंक बैंक खाते खाली कर दे रहे हैं। कानपुर में एक ही व्यक्ति के आधार से लिंक दो बैंक खातों से 12 दिनों के भीतर दो बार रकम निकाल ली गई। पुलिस भी शुरुआती जांच में साइबर ठगों की चालों से उलझ गई है। साइबर विशेषज्ञ भी इस नई चालबाजी को लेकर हैरान हैं।

ओ ब्लाक किदवई नगर निवासी स्वप्निल मेहता एक मल्टीनेशनल कंपनी में कार्यरत हैं। 24 फरवरी की सुबह करीब 11 बजे उनके आईसीआईसीआई बैंक अकाउंट से दस हजार रुपये निकाले जाने का मैसेज मिला और ठीक एक मिनट बाद एक मेल मिली, जिसमें यह लेनदेन उनके आधार कार्ड के बायोमीट्रिक के जरिए होने का जिक्र था।

आनन फानन वह बैंक पहुंचे तो जानकारी मिली कि किसी ने रकम निकासी के लिए उनके आधार कार्ड नंबर व उसमें दर्ज अंगूठे की छाप का प्रयोग किया है। उन्होंने किदवईनगर में मुकदमा दर्ज कराया था। स्वप्निल ने बताया कि ठीक इसी प्रकार उनके सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के खाते से आठ मार्च को दस हजार रुपये निकल गए। उन्हें बताया गया था कि आधार कार्ड की वेबसाइट पर जाकर अंगूठे की छाप का विकल्प बंद करने से साइबर ठग दोबारा ऐसा नहीं कर सकेंगे, लेकिन ऐसा करने के बावजूद दोबारा पैसे निकल गए।

यह भी पढ़ें: How to Report Cyber Crime in India : ऐसे करें साइबर क्राइम की Online FIR

अब तक हुई जांच में उलझी पुलिस
शुरुआत जांच में पुलिस को पता चला कि कन्नौज के तिर्वा निवासी नीरज आधार कार्ड से लिंक बैंक खातों से पैसा निकालने का काम करते हैं। उन्होंने एक निजी एजेंसी की फ्रेंचाइजी ले रखी है। नीरज की आईडी से स्वप्निल के बैंक खाते से पैसे निकाले गए। पुलिस ने रविवार को तिर्वा से नीरज को हिरासत में लेकर कानपुर आई। नीरज बयान में कहा है कि उसकी आइडी किसी साइबर ठग ने हैक कर ली थी। हालांकि, वह यह नहीं बता पा रहा कि इसकी सूचना पुलिस को क्यों नहीं दी।

साइबर एक्सपर्ट बोले, नया तरीका
साइबर एक्सपर्ट्स के अनुसार ऐसी ठगी खूब होती है। आधार कार्ड की वेबसाइट पर जाकर अंगूठे की छाप का विकल्प लाक करने के बाद दोबारा पैसे निकल गए हैं तो यह बड़ा मामला है। साइबर ठगों ने कोई दूसरा नया तरीका अपना लिया है। खुद उनके लिए यह पहला केस होगा। अगर ऐसा हुआ तो आधार लिंक कोई भी बैंक खाता बिना सेफ्टी फीचर के सुरक्षित नहीं है।

यह भी पढ़ें: इन 16 Cyber Crimes को समझ लिया तो कभी नहीं होंगे Cyber Fraud के शिकार

आधार लिंक है बैंक खाता तो यह करें
आधार की वेबसाइट पर अंगूठे की छाप का विकल्प लाक कर दें। बैंक जाकर डेबिट फ्रीज करा दें।

काम की बात
साइबर एक्सपर्ट रक्षित टंडन के मुताबिक अगर बैंक खाते से साइबर ठग अंगूठे की छाप का प्रयोग करके पैसे निकालते हैं तो तत्काल मुकदमा दर्ज कराएं। आपके साथ ठगी साबित होने पर रकम वापसी की जिम्मेदारी बैंक की है।

Follow The420.in on

 Telegram | Facebook | Twitter | LinkedIn | Instagram | YouTube

Subscribe to our newsletter

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.

Most Popular

Recent Comments