Friday, August 19, 2022
Homeक्राइमElectricity Bill Update के बहाने ऐसे अकाउंट खाली कर रहे ठग, आप...

Electricity Bill Update के बहाने ऐसे अकाउंट खाली कर रहे ठग, आप के पास भी आए मैसेज या कॉल हो जाये सतर्क

देश में तेजी बढ़ते डिजीटलाइजेशन के साथ ही साइबर अपराध का ग्राफ भी भी बढ़ रहा है। इसकी वजह साइबर अपराधियों द्वारा लोगों को ठगने के लिए नये नये तरीके इजाद करना है। जैसे ही लोग ठगों के इन पैतरों से सजग होते हैं आरोपी ठगी का एक नया तरीका इजाद कर लेते हैं। ऐसे ही साइबर ठगों ने अब बिजली उपभोक्ताओं को अपना निशाना बनाना शुरू कर दिया है। ठग बिजली विभाग के कर्मचारी बन बिजली अपडेट करने के नाम पर लोगों के खाते खाली कर दे रहे हैं। हरियाणा पुलिस ने लगातार इस तरह की घटनाएं सामने आने पर एडवाइजरी जारी कर लोगों से सावधान रहने की अपील की है।

और पढ़े : भूलकर भी न करें ये नंबर डायल, एक Call से Hack हो जाएगा आपका WhatsApp अकाउंट और आपके दोस्त और परिवार हो जायेंगे साइबर अपराध के शिकार

ऐसे लोगों को निशाना बना रहे साइबर ठग

ठगी करने के लिए साइबर ठग ऐसे लोगों को निशाना बना रहे हैं जिनका बिजली बिल किसी न किसी कारण वश बकाया है। ऐसे बिजली उपभोक्ताओं की पहचान कर ठग उन्हें कॉल करते हैं। आरोपी अपना परिचय बिजली कर्मचारी और अधिकारी के रूप में देते हैं।

साथ ही बिजली बिल जमा न करने पर कनेक्शन काटने की धमकी देते हैं। ऐसे में आरोपी बिजली बिल अपडेट करने के नाम पर उपभोक्ताओं से बातचीत के दौरान उनकी अकाउंट डिटेल ले लेते हैं। इसकी बाद मिनटों में उनका खाता साफ कर देते हैं। पीड़ित को इसका पता बैंक की ओर से मैसेज से लगता है।

और पढ़े : सरकारी योजनाओं से लेकर फ्रेंचाइजी के लिये कर रहे हैं आवेदन तो जरूर पढ़ लें ये खबर, नहीं तो ठगी के अगले शिकार हो सकते हैं आप

एक मैसेज से बना लेते हैं शिकार

ठगी के एक ही तरीके के कई मामले सामने आने पर हरियाणा पुलिस ने एक एडवाइजरी जारी की है। इसमें पुलिस ने बताया कि साइबर ठग बिजली उपभोक्ताओं के फोन नंबर पर एक टेक्स्ट मैसेज भेजते हैं। इस के जरिये वे मुख्य रूप से बिजली के बकाया उपभोक्ताओं को टारगेट करते हैं। मैसेज में वे लिखते हैं कि आप के द्वारा भरा गया बिजली बिल अपडेट नहीं हुआ है। अगर इसे जल्द नहीं कराया तो आपका कनेक्शन काट दिया जाएगा। साथ ही मैसेज में एक मोबाइल नंबर भी दिया जाता है। जिस पर संपर्क कर अपडेट करवाने की सुविधा देते हैं।

जैसे ही बिजली उपभोक्ता मैसेज में आए नंबर पर कॉल कर बिल अपडेट करने की बात कहता है। आरोपी साइबर ठग पेमेंट का सत्यापन करने के नाम पर उक्त उपभोक्ता के खाते की जानकारी ले लेते हैं। वहीं कुछ लोग जानकारी देने से बचते हैं तो आरोपी उनके मोबाइल या लैपटॉप में एनीडेस्क, टीम व्यूअर जैसे सॉफ्टवेयर लेकर उनके सिस्टम का एक्सेंस अपने पास ले लेते हैं। इसके बाद आरोपी ठगी की वारदात को अंजाम देते हैं।

Follow The420.in on

 Telegram | Facebook | Twitter | LinkedIn | Instagram | YouTube

Shambhavi Singh
Shambhavi Singh
The writer is a confident speaker with an irresistible affinity for stage and the zest to write. Currently pursuing History Honours from Miranda House, University of Delhi. She is an opinionated bird from the holy city of Varanasi who has been in love with exploring and learning about culture and heritage from the very beginning. She love writing in every niche because the pen and paper are magical.

Subscribe to our newsletter

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.

Most Popular

Recent Comments