Thursday, August 18, 2022
Homeक्राइमEx-CM भूपेंद्र सिंह हुड्डा की भाभी के साथ अजब गजब ठगी, Cyber...

Ex-CM भूपेंद्र सिंह हुड्डा की भाभी के साथ अजब गजब ठगी, Cyber criminals ने उनके पैन कार्ड से बना लिया फर्जी ऑनलाइन खाता और  कर ली ठगी, फिर Court के आदेश पर क्या हुआ जानिए

अनीशा कुमारी: हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा  (Bhupinder Singh Hooda) की भाभी अजब गजब तरीके से Cyber Fraud की शिकार हो गई। साइबर क्रिमिनल ने  उनके पैन कार्ड से फर्जी ऑनलाइन खाता खोलकर पश्चिम बंगाल के एक युवक से ठगी कर ली  और इसी फर्जी खाते में फ्रॉड की गई रकम ट्रांसफर कर लिया। इसके बाद जब यह मामला कोर्ट में पहुंचा तो कोर्ट के आदेश पर पूर्व सीएम की भाभी के खाते से बैंक ने पश्चिम बंगाल के पीड़ित को  9 लाख रुपए ट्रांसफर कर दिए गए। जब इस मामले की प्राथमिक जांच हुई तो पता चला कि साइबर क्रिमिनल ने पूर्व सीएम की भाभी का Fake account खुलवा कर इस फर्जीवाड़ा को अंजाम दिया था।

READ MORE: Loan App डाउनलोड करने के लिए जब किया Google Search तो मिल गया साइबर जालसाजों का नंबर, फिर जानें क्या हुआ

ऐसे समझिए पूरा मामला

हरियाणा के पूर्व सीएम भूपिंदर सिंह हुड्डा के बड़े भाई  इंदर सिंह उत्तराखंड के उधम सिंह नगर जिले में रहते हैं। इंदर सिंह की पत्नी राजवती 17 मई को स्टेट बैंक ऑफ इंडिया अपने पासबुक अपडेट कराने पहुंची तो पता चला कि उनके खाते से 9 लाख 47 हजार 643 रुपए पश्चिम बंगाल के रहने वाले आशीष कॉल नामक शख्स के खाते में पश्चिम बंगाल की एक अदालत के आदेश पर भेजी गई है। इस बारे में राजवती ने कुछ भी पता होने से इनकार किया और इस मामले में जब जानकारी की गई तो पता चला कि दरअसल पश्चिम बंगाल के रहने वाले आशीष पाल के साथ साइबर ठगी हुई थी और जब यह मामला कोर्ट में पहुंचा था तब कोर्ट के आदेश पर राजवती के खाते से रकम आशीष के खाते में भेज दिए गए थे।

READ MORE: SBI का Branch Manager बोल रहा हूं, KYC अपडेट के लिए App डाउनलोड करो। फिर जानिए क्या हुआ

दरअसल ऐसे हुआ था Cyber Fraud

दरअसल साइबर क्रिमिनल ने राजवती के दस्तावेजों से एक फर्जी ऑनलाइन अकाउंट बनाया था और साइबर क्रिमिनल ने इन्हीं दस्तावेजों की मदद से आशीष के खाते से पैसे निकाले थे और यह पैसे राजवती के कथित फर्जी अकाउंट में ट्रांसफर किए गए थे।

READ MORE: एक्ट्रेस Sunny Leone हुईं साइबर ठगी का शिकार, PAN Card पर लिया गया 2000 रुपये का लोन

रकम ट्रांसफर होने के बाद ही खाता बंद हो गया था और आशीष ने इस मामले की शिकायत पश्चिम बंगाल के बांकुरा साइबर थाने में की थी। जब यह मामला कोर्ट में पहुंचा तब कोर्ट ने राजवती के  असली अकाउंट से पैसे आशीष के अकाउंट में भेजने का आदेश दिया था। जबकि राजवती को न तो पश्चिम बंगाल की अदालत से कोई नोटिस मिला था ना ही कोई आदेश की प्रति मिली थी। आशंका जताई जा रही है कि साइबर क्रिमिनल ने सुनियोजित तरीके से राजवती के दस्तावेज से अकाउंट बनाए और साइबर फ्रॉड कर उसी अकाउंट में पैसे ट्रांसफर करवाए। अब राजवती की शिकायत पर बैंक प्रबंधन और पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Follow The420.in on

 Telegram | Facebook | Twitter | LinkedIn | Instagram | YouTube

Subscribe to our newsletter

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.

Most Popular

Recent Comments