इंजीनियर से पांच साल में दूसरी बार ठगी, जानें कैसे बचें ऑनलाइन ठगी से

Cyber Crime : छत्तीसगढ़ के रायपुर में सिंचाई विभाग से रिटायर हुए इंजीनियर से ठगी का मामला सामने आया है। इन्हीं इंजीनियर से ठगी का ये दूसरा मामला है। इससे पहले, 2016 में भी इनके साथ ठगी हुई थी। पीड़ित ने दोनों घटनाओं की शिकायत पुलिस से की है। पुलिस अधिकारियों पर कार्रवाई ना करने का आरोप रिटायर्ड इंजीनियर ने लगाया है।

पीड़ित ने पुलिस को बताया कि सिंचाई विभाग से रिटायर्ड होने के बाद आरंग थानाक्षेत्र में स्थित गांधी चौक पर अपने परिवार के साथ रहता है। 13 फरवरी को अज्ञात आरोपियों ने उनके खाते से दो किस्तों में 14 हजार 700 रुपए निकाल लिए। वारदात को अंजाम देने के लिए आरोपियों ने बैंक अधिकारी बनकर फोन किया और पैसा वापस डालने की बात कहते हुए जानकारी पूछी। पीड़ित की शिकायत पर अज्ञात आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया ।

2016 में हुए थे पहली बार ठगी का शिकार

पीड़ित ने पुलिस को बताया कि वर्ष 2016 में भी उसके खाते से तीन किस्तों में 14 हजार 700 रुपए निकला था। और उस मामले की जा करी पीड़ित ने तत्कालीन पुलिस अधिकारी से को थी लेकिन अभी तक आरोपियों को पुलिस अधिकारी पकड़ न सके। पीड़ित ने मौजूदा पुलिसकर्मियों से आरोपियों को पकड़ने और उसका पैसा वापस दिलवाने की मांग की है।

इन तरीकों का इस्तेमाल कर साइबर ठगी से बचें

  • फोन पर खाते की पर्सनल जानकारी देने से बचे।
  • अनजान लोगों को खाते के पैसे की जानकारी ना दें।
  • यदि कोई जानकारी पूछता है, तो तत्काल निकटतम थाना को सूचना दें।
  • अकाउंट संबंधी काम को खुद बैंक जाकर करें।
  • बैंक में या एटीएम बूथ में अनजान लोगों की मदद ना लें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here