Saturday, November 27, 2021
Homeक्राइमऑनलाइन पैमेंट सुविधा के नाम पर 50 करोड़ से अधिक की ठगी,...

ऑनलाइन पैमेंट सुविधा के नाम पर 50 करोड़ से अधिक की ठगी, अमेरिका में बैठा है गैंग का सरगना, ऐसे लगाते हैं लोगो को चूना

उत्तर प्रदेश के हाथरस ज़िले में आत्मनिर्भर भारत अभियान के नाम पर ठगी का मामला सामने आया है। पुलिस को मिली शिकायत के अनुसार अमेरिका मे रहने वाले गुजरात के एक शख्स ने फोन पे और गूगल पे की तरह ऑनलाइन पैमेंट की फर्जी कंपनी खोलकर ठगी की। पीड़ित ब्रजमोहन कौशिक ने पुलिस को शिकायत पत्र में बताया कि मेहसाणा गुजरात का रहने वाला हितेश पटेल उर्फ़ नील पटेल ने ‘आत्मनिर्भर भारत’ के उद्देश्य से ‘squeaks technology services opc pvt ltd ‘ नाम की कंपनी खोली। इस कंपनी के माध्यम से ही उसने दो वेबसाइट www.naaradpay.com औऱ www.naaradpay.in बनाईं। यह कंपनी पेटीएम, गूगल पे और फोन पे की तरह ऑनलाइन पैमेंट, बिजली बिल, पानी बिल, मोबाईल रिचार्ज आदि तरह की सुविधाएं देने के उद्देश्य से बनाई गई। इसके लिए उसने अलग-अलग तरीक़े के प्लान लांच किए। वह प्लान का पैसा बैंक ऑफ बड़ौदा के एक अकाउंट में जमा करा लेता था।

जानकारी के अनुसार आरोपी शख्स लोगों से 50 करोड़ से अधिक की साइबर ठगी कर चुका है। नील पटेल कंपनी का संचालन अमेरिका से करता है। उसके कई साथी भारत में अलग अलग जगहों पर रहकर लोगों को साइबर ठगी का शिकार बनाते हैं। इसमें कंपनी के डायरेक्टर गोवर्धन दास, नील पटेल, देव चौधरी, समेत कई लोग मिलकर साइबर ठगी को अंजाम देते हैं। ये लोग प्रभावशाली एनजीओ और लोगों को टारगेट करते है, जिनके सोशल मीडिया पर काफी फालोअर्स है। वे एनजीओ को मदद के नाम हर महीने पैसे देते है। यही नहीं वे प्रभावशाली लोगों को आइफोन जैसे मंहगे गिफ्ट भी देते। इससे पब्लिक प्लेटफॉर्म पर इनकी तारीफ होती है और आसानी से लोग इनके प्रभाव में आ जाते हैं। इसके बाद वे लोगों को नई कंपनी खोलकर लुभावने प्लान ऑफर करते हैं। ज्यादा रिफंड की लालच में लोग इनके जाल में फंस जाते हैं। शुरुआत में सबकुछ ठीक चलता है। लोगों को जब इनपर पूरी तरह विश्वास हो जाता है, तो वे ऐसे ही और भी लुभावने प्लान लॉन्च करते हैं। एक बार मोटी रकम इक्ट्ठा होने पर सभी प्लान बंद कर देते हैं। लोगों को पैसा भी वापस नहीं करते

ब्रजमोहन कौशिक के साथ भी इसी तरह से ठगी हुई
पीड़ित ब्रजमोहन कौशिक के साथ भी इसी तरह से ठगी हुई। उसने पुलिस को बताया कि कंपनी की सुविधाओं को देखकर उसने www.naaradpay.in बेवसाइट पर कुछ प्लान ख़रीदे थे। अक्टूबर 2020 में उसने पहला प्लान 1500 रुपये का खरीदा था। इसमें एक साल तक प्रति माह 200 रुपये इस्तेमाल करने को मिलेंगे औऱ अंतिम महीने में 1500 रुपये वापस करने की भी बात कही गई थी। उन्होंने अक्टूबर 2020 में ही 25000 रुपये का दूसरा प्लान खरीदा था। इसमें बताया गया कि आपको प्रतिमाह 5000 रुपये 12 महीने तक उपयोग करने को मिलेंगे। प्लान ख़रीदने के तीन महीने बाद आपको 40000 रुपये का फ़ोन उपहार में दिया जाएगा। इसी प्रकार पीड़ित कौशिक ने कंपनी से कुल 7 प्लान खरीदे थे। ये प्लान क़रीब एक लाख रुपये के थे।

फ़रवरी में अचानक बंद हो गए सभी प्लान
पीड़ित के अनुसार ख़रीदे गए सभी प्लान फ़रवरी 2021 में अचानक बंद हो गए। प्लान बंद होने के बाद कौशिक ने कंपनी से पैसे वापस करने की बात कही। कंपनी ने पैसे वापसी के नाम पर तारीख़ पर तारीख़ दी, मग़र अभी तक पैसे वासप नहीं हुए। जब उसने ज़्यादा ज़ोर दबाव डाला तो उसे कई तरह की धमकियां दी जा रही हैं।

Follow The420.in on FacebookTwitterLinkedInInstagramYouTube & Telegram

Subscribe to our newsletter

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments