Friday, May 27, 2022
Homeक्राइममुंबई: प्राइवेट मनी ट्रांसफर कंपनी के सर्वर हैककर लगाया दो करोड़ का...

मुंबई: प्राइवेट मनी ट्रांसफर कंपनी के सर्वर हैककर लगाया दो करोड़ का चूना, तीन गिरफ्तार

मुंबई की सेंट्रल रीजन साइबर सेल और क्राइम ब्रांच की टीम ने एक प्राइवेट मनी ट्रांसफर कंपनी के सर्वर को हैककर 2.01 करोड़ रुपयों की ठगी के मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों का नाम रोहित राठौड़, रफीक पयक और शमशाद खान है। इन्होंने पूरी प्लानिंग के साथ इस ठगी की वारदात को अंजाम दिया था। मुख्य आरोपी रोहित राठौड़ ने इस कंपनी की एक फ्रेंचाइजी ली थी। इसकी मदद से उसने फाइनेंस कंपनी के सर्वर एक्सेस की जानकारी प्राप्त की।

यहीं से ठगी का प्लान शुरू हुआ। रोहित किसी भी ट्रांजेक्शन को अपनी फ्रेंचाइजी के जरिए रूट करके रकम ट्रांसफर करने की जगह हैक किए गए सर्वर का इस्तेमाल कर सामने वाले के पैसों का ट्रांजेक्शन कर देता था। मनी ट्रांसफर कंपनी को इसकी भनक नहीं थी। इसके बाद उन पैसों को अपने और अपने दो आरोपी साथियों के बैक अकाउंट में भेज देता। इस तरह राठौड़ ने एक साल में 3000 ट्रांजेक्शन कर मनी ट्रांसफर कंपनी को भारी चुना लगाया।

मामला तब सामने आया जब कंपनी के सालाना बैंक ऑडिट में 2 करोड़ की गड़बड़ी पाई गई। शुरुआती जांच में पता चला कि सर्वर हैक कर ठगी की गई है। इसके बाद साइबर सेल ने इन तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। ठगी की 2 करोड़ की रकम कहां गई और किन-किन लोगों के साथ ठगी की गई। इन सारी चीजों की जांच में एजेंसियां जुटी हुई हैं।

आरोपी 5 दिन की पुलिस रिमांड पर
साइबर सेल और क्राइम ब्रांच की टीम ने फिलहाल रोहित राठौड़ और रफीक पयक को गिरफ्तार कर जांच के लिए उनकी 5 दिन की पुलिस रिमांड ली है। वहीं आरोपी शमशाद खान कोरोना पॉजिटिव पाया गया है, जिसके बाद उसे कोविड केयर सेन्टर में रखा गया है और उसके ठीक होने पर पुलिस उसकी रिमांड लेने की तैयारी में है।

Follow The420.in on

 Telegram | Facebook | Twitter | LinkedIn | Instagram | YouTube

Subscribe to our newsletter

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.

Most Popular

Recent Comments