इस स्कूल की ऑनलाइन क्लासेस नहीं हुईं बंद तो छात्राओं की न्यूड फोटो होगी वायरल,जानें डार्कनेट से कैसे मिल रही धमकी

Cyber Crime : स्कूल या कॉलेज को बंद कराने के लिए कॉल या मैसेज के जरिए धमकी की काफी खबरें सुनीं होंगी। लेकिन ऑनलाइन क्लासेस बंद कराने के लिए डार्कवेब से धमकी भरे ईमेल आने का यह पहला मामला है। साइबर क्रिमिनल ने पहले परीक्षाएं रद्द कराईं और अब Online Classes बंद कराने की धमकी दे रहा है। ऐसा नहीं करने पर छात्राओं की न्यूड फोटो वायरल करने की धमकी दे रहा है। जानें पूरा मामला..

Darknet

Cyber Crime News : कोरोना की वजह से देश के ज्यादातर स्कूलों में ऑनलाइन क्लासेस चल रहीं हैं। लेकिन गुजरात के अहमदाबाद के एक प्राइवेट स्कूल में ऑनलाइन क्लासेस को बंद करने के लिए धमकी भरे ईमेल भेजे जा रहे हैं। धमकी ऐसी कि जानकर आपके होश उड़ जाएंगे। धमकी में कहा जा रहा है कि अगर ऑनलाइन क्लासेस नहीं बंद की गई तो स्कूल की काफी संख्या में छात्राओं की न्यूड फोटो (Nude Photos) इंटरनेट पर अपलोड कर दी जाएगी। ये ईमेल भी सामान्य इंटरनेट से नहीं बल्कि डार्कनेट के जरिए भेजा जा रहा है। इसके चलते साइबर सेल भी ईमेल भेजने वाले का पता नहीं लगा पा रही है। इस वजह से स्कूल मैनेजमेंट को धमकी भरे ईमेल की बातों को मानने की मजबूरी भी बन रही है।

8 महीने से मिल रही धमकी, लेकिन नहीं मिला सुराग

अहमदाबाद पुलिस साइबर क्राइम सेल पिछले आठ महीनों से शहर के एक प्राइवेट स्कूल को धमकी भरा ईमेल भेजने वाले शख्स को तलाश रही है। इस गुमनाम शख्स ने एक बार फिर स्कूल को धमकी भरा ईमेल भेजा है। उसने ऑनलाइन क्लास बंद करने को कहा है। 9 सितंबर, 2020 से मार्च 2021 तक स्कूल मैनेजमेंट को एक ही ईमेल एड्रेस से कई बार धमकी भरे ईमेल मिल चुके हैं। मेल भेजने वाल व्यक्ति ने मांगों को पूरा नहीं करने पर स्कूल की छात्राओं की मोर्फेड तस्वीरों (Morphed Nude Photos) को इंटरनेट पर अपलोड करने की धमकी दी है। पुलिस ने आरोपी के बारे में पता लगाने का खूब प्रयास कर रही है। लेकिन इन 8 महीनों में कोई सुराग नहीं मिला है।

सितंबर 2020 से लगातार मिल रही धमकी, Mid Term Exam भी करना पड़ा कैंसल

9 सितंबर 2020 को गुमनाम यूजर ने ईमेल के जरिए तीन लेटर भेजे थे। ईमेल पर धमकी देते हुए मिड टर्म एग्जाम (Mid Term Exam) को रद्द करने की धमकी दी गई थी। स्कूल मैनेजमेंट ने 8वीं से 12वीं कक्षा की मिड टर्म परीक्षा रद्द कर दी थी। इसके बाद 6 दिसंबर और 9 दिसंबर, 2020 को स्कूल को फिर धमकी भरे ईमेल मिले। इसमें कक्षा 10, 11 और 12वीं के लिए प्रिलिम एग्जाम रद्द करने की धमकी दी गई थी।

अब मार्च 2021 में स्कूल मैनेजमेंट को फिर से उसी ईमेल आईडी से धमकी भरा मैसेज आया है। इसमें ऑनलाइन क्लासेज कैंसल करने की मांग की गई है। इस धमकी से स्कूल मैनेजमेंट और छात्रों के अभिभावक भी काफी परेशान हैं। इससे स्कूल की बदनामी हो रही है और छात्रों और अभिभावकों की गरिमा को नुकसान पहुंच रहा है। इस मामले को लेकर स्कूल मैनेजमेंट ने अक्टूबर 2020 में साइबर क्राइम सेल से संपर्क किया था, लेकिन कोई सुराग नहीं लग सका है।

TOR जैसे ब्राउजर के जरिए वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क से ईमेल

TOR Browser

अहमदाबाद साइबर क्राइम सेल अधिकारियों ने बताया कि धमकी भरे ईमेल भेजने के लिए साइबर क्रिमिनल वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क (VPN के समान एक नेटवर्क का उपयोग कर रहा है। वह द ओनियन रिंग (TOR ) जैसे ब्राउज़र का इस्तेमाल कर रहा है। यह एक ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर है। इसका इस्तेमाल गुमनाम रूप से जानकारी भेजने के लिए किया जाता है। इसको डार्कवेब के नाम से भी जाना जाता है। इस मामले में पुलिस जाने-माने साइबर एक्सपर्ट, साइबर फोरेंसिक एक्सपर्ट की मदद ले रही है।

स्कूल के किसी शातिर छात्र के ही हाथ होने की आशंका

इस पूरे मामले में जिस तरह से परीक्षा रद्द करने और ऑनलाइन क्लासेस को बंद करने की मांग हो रही है, उससे किसी छात्र पर ही शक की सुई है। ये भी हो सकता है कि कोई छात्र अपने किसी हैकर दोस्त की मदद से ऐसी हरकत करा रहा है। जिसे डार्कनेट के बारे में अच्छी जानकारी हो। इसके अलावा, किसी पुराने स्टूडेंट का भी हाथ हो सकता है जिसमें स्कूल को लेकर कोई गुस्सा हो। बहरहाल, साइबर पुलिस सभी एंगल को ध्यान में रखते हुए जांच कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here