Saturday, December 3, 2022
Homeक्राइमत्योहारों के मौसम में ऑनलाइन शॉपिंग के दौरान हो सकते हैं ठगी...

त्योहारों के मौसम में ऑनलाइन शॉपिंग के दौरान हो सकते हैं ठगी का शिकार, इन बातों का रखें खास ध्यान

स्मार्टफोन हमारे जीवन का अभिन्न अंग बन गए हैं। इसके इस्तेमाल हम लोगों से बात करने, वीडियो देखने से लेकर ऑनलाइन खरीदारी करने के लिए करते हैं। ऑनलाइन खरीदारी के समय हम कोशिश करते हैं कि हमें कोई अच्छी से अच्छी डील मिले और ज्यादा भुगतान भी न करना पड़े। जैसे- स्मार्टफोन खरीदने से पहले हम अलग-अलग  साइट्स पर इसकी तुलना करते हैं। अपने दोस्तों से नई साइट्स के बारे में पूछते हैं। ऐसे में कई बार हम लुभावने ऑफर्स के चक्कर में फ्रॉड का शिकार हो जाते हैं। इन बातों का फायदा स्कैमर्स उठाते हैं

और लोगों को चपत लगाते हैं। ऐसे में आइए जानते हैं कैसे हम इन फ्रॉड्स से बच सकते हैं।

ALSO READ: पुराने दोस्तों से हुई मुलाकात तो Morphed Porn Video बना करने लगे Cyber Fraud, राजस्थान से  Delhi Police ने किया गिरफ्तार

केवल वेरिफाइड साइट्स से खरीदारी करें

जिस वेबसाइट्स को आप पहले से जानते हैं उसपर धोखाधड़ी का शिकार होने की संभावना बहुत कम होती है। ऑनलाइन शॉपिंग के मामले में अपना नाम बना चुकी कंपनियां इतना बड़ा रिस्क नहीं लेंगी। इसलिए त्योहारों के मौसम में भी लुभावने ऑफर्स की लालच में न पड़े और अज्ञात साइट्स से शॉपिंग न करें।

डोमेन नेम पर दें ध्यान

हमें डोमेन नेम पर विशेष ध्यान देना चाहिए। अक्सर, फ्रॉड अलग-अगल टॉप लेवल डोमेन (TLD) के साथ जाने-माने ब्रांड्स का उपयोग करते हैं। डोमेन नेम पेज के एड्रेस के अंत में होता है।.com के बजाय यह .in, .net या .org हो सकता है। बेशक, ऐसी साइट्स अच्छे ऑफर मिल सकते हैं, लेकिन इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि आपको सही सामान मिलेगा। इसके अलावा, ऐसी साइट्स से आपकी पेमेंट संबंधित जानकारी चुराई जा सकती है।

ALSO READCyber Crime की रिपोर्टिंग के लिए गृह मंत्रालय ने जारी किया नया हेल्पलाइन नंबर, अब 155260 की जगह 1930 नंबर पर करें कॉल

चेक करें वेबसाइट एन्क्रिप्ट है या नहीं

वेबसाइट एड्रेस (यूआरएल) की शुरुआत को भी देखना न भूलें। एक सुरक्षित वेबसाइट हमेशा https:// से शुरू होती है। जिन साइट्स का एड्रेस http:// से शुरू होता है, उन साइट्स पर अपनी बैंकिंग जानकारी नहीं दी जानी चाहिए। ध्यान से देखें दोनों में काफी मामली अंतर है। एक में S है एक में नहीं। संभव है कि ऐसी साइट्स कोई धोखेबाज के न चला रहा हो, पर यहां से आपकी पेमेंट डिटेल चोरी हो सकती है। यदि आपको अपना क्रेडिट कार्ड नंबर या अन्य जानकारी ई-मेल के माध्यम से भेजने का अनुरोध प्राप्त होता है, तो भी आपको सतर्क रहना चाहिए। एक सामान्य ई-स्टोर इस तरह से कभी काम नहीं करता।

ALSO READ: अपने Smartphone पर 5G का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो Users ये Steps को फॉलो करें

पासवर्ड सुरक्षा

नामी ऑनलाइन स्टोर पर आपको अपना अकाउंट बनाना होगा। यहां आपको अपना पासवर्ड सेट करते समय सुरक्षा नियमों का पालन करना होगा। ध्यान रखें पासवर्ड हमेशा मजबूत बनाएं। डेट ऑफ बर्थ और मोबाइल नंबर का इस्तेमाल न करें। इन्हें गेस करना आसान होता है। आप पासवर्ड जेनरेटर का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह सुविधा कई पासवर्ड मैनेजरों में उपलब्ध है।

अपने ट्रांजेक्शन की जांच करें

इंटरनेट बैंकिंग या मोबाइल बैंकिंग के माध्यम से नियमित रूप से अपने कार्ड और बैंक खातों का स्टेटस जांचने की आदत डालें। त्योहारों के मौसम में हम खूब खरीददारी करते हैं, ऐसे में हम ट्रांजेक्शन कहां करते इसपर ध्यान देना चाहिए। हर ट्रांजेक्श की सावधानीपूर्वक जांच करें। इससे आप ठगी से बच सकते हैं।  जरा सा भी संदेह होने पर बैंक की हॉटलाइन पर कॉल करें. जिसमें आपका खाता है या जिसका आप कार्ड इस्तेमाल कर रहे हैं और समस्या का यथाशीघ्र समाधान करें।

Follow The420.in on

 Telegram | Facebook | Twitter | LinkedIn | Instagram | YouTube

Subscribe to our newsletter

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.

Most Popular

Recent Comments