Friday, May 27, 2022
Homeक्राइमविदेशी महिला से दोस्ती कर चंडीगढ़ के शख्स ने गंवाए 14 लाख,...

विदेशी महिला से दोस्ती कर चंडीगढ़ के शख्स ने गंवाए 14 लाख, ग्रेटर नोएडा से दबोचा गया नाइजीरियन, जानें मामला

Cyber Crime News : विदेशी महिला की फोटो लगाकर एक नाइजीरियन युवक ने चंडीगढ़ के व्यक्ति से 14 लाख रुपये ठग लिए। नाइजीरियन युवक महिला की आवाज में बात करने के लिए वॉयस कनवर्टर सॉफ्टवेयर का यूज करता था। आरोपी ने ब्रिटेन की महिला बताते हुए पहले फेसबुक पर दोस्ती की और फिर पति की मौत पर इंडिया में गरीबों को दान करने के एवज में डॉलर भेजने के नाम पर ठगी को अंजाम दिया। इस मामले में चंडीगढ़ साइबर सेल पुलिस ने यूपी के ग्रेटर नोएडा में नाइजीरियन को गिरफ्तार किया है। पुलिस का दावा है कि इस आरोपी ने पिछले कई वर्षों में काफी संख्या में लोगों से लाखों-करोड़ों की ठगी कर चुका है। इसके गैंग के अन्य लोगों की तलाश की जा रही है।

पकड़ा गया आरोपी फ्रैंसिस इमेका डूरओबसी (37) है। वह नाइजीरिया के अनमबरा ओनितशा का रहने वाला है। पिछले कई साल से वह ग्रेटर नोएडा के चाई सेक्टर में रहकर फर्जीवाड़ा कर रहा था। इसके पास से 14 मोबाइल फोन, 7 डेबिट कार्ड, एक लैपटॉप और एक पैन ड्राइव बरामद हुई है। चंडीगढ़ पुलिस ने 19 जनवरी को इसे गिरफ्तार कर 4 दिन की रिमांड पर ले लिया है।

फेसबुक मैसेंजर पर दोस्ती कर नाइजीरियन ने ऐसे किया था ट्रैप

चंडीगढ़ पुलिस के अनुसार,  22 अगस्त 2020 को से पीड़ित साधो सिंह ने शिकायत दर्ज कराई थी। इनके मुताबिक, फेसबुक मैसेंजर पर एक विदेशी महिला ने उनसे संपर्क किया था। उसने खुद को ब्रिटेन की युवती बताया था। जब संपर्क किया तो उसने खुद को काफी दुखी बताया था। ये भी कहा था कि वह अपनी पति की मौत से परेशान है और अपने पति की इच्छा के अनुसार वह गरीबों को पैसा बांटनी चाहती है। इस काम के लिए वह भारत में रहने वाले किसी से मदद चाहती है। इस पर साधो सिंह ने मदद करने की सहमति दे दी थी। इसके बाद विदेशी महिला ने एक वॉट्सऐप नंबर दे दिया था और उसी पर लगातार चैट करने लगी थी। इस दौरान कई बार फोन पर बात भी की। तब आरोपी नाइजीरियन ने वॉयस चेंजर सॉफ्टवेयर के जरिए महिला की आवाज में बात कर लेता था। इस दौरान आरोपी नाइजीरियन काफी इमोशनल बातें करता था जिसकी वजह से साधो सिंह ट्रैप में आ गए।

मई 2020 में डॉलर से भरा कुरियर भेज फंसाया जाल में, फिर की ठगी

बातचीत के दौरान ही विदेशी महिला ने साधो सिंह को डॉलर से भरा एक बैग कुरियर करने की बात कही। इसके बाद 18 मई 2020 को कुरियर देने वाले का साधो सिंह के पास फोन आया। विदेश से आए कुरियर को छुड़वाने के एवज में साधो सिंह से पहले 48,700 रुपये लिए गए। इसके बाद फीस के रूप में 20 हजार और जमा करवाया गया। साधो सिंह ने जब पैसे दे दिए तब साइबर क्रिमिनल ने नए-नए बहाने बनाकर पैसे मांगने लगा। इसके बाद आरोपी ने कहा कि यूनाइटेड नेशन ऑफिस से कागज बनवाने के लिए एक लाख 60 हजार और जमा कराना होगा। इस तरह अलग-अलग तरीके और फिर स्मगलिंग के आरोपी में जेल भिजवाने की धमकी देकर कुल 14 लाख 62 हजार 730 रुपये ठग लिए।

पूरा मामला समझ में आने पर पीड़ित साधो सिंह ने चंडीगढ़ के साइबर सेल 11 सितंबर 2020 को एफआईआर दर्ज कराई थी। साइबर सेल की डीएसपी रश्मि यादव की अगुवाई में सब इंस्पेक्टर सुनील कुमार की टीम ने 19 जनवरी को आरोपी को ग्रेटर नोएडा से दबोच लिया। पुलिस ने बताया कि आरोपी नाइजीरियन पिछले करीब 7 साल से भारत में बिजनेस वीजा पर रह रहा है। ये आरोपी विदेशी लड़कियों की फोटो लगाकर फेसबुक पर आईडी बनाता था और लोगों से दोस्ती कर ठगी करता था। किसी के दोस्त बनने पर वह खुद को यूएस, जर्मन, कनाडा, फ्रांस, इटली समेत अन्य देशों से बात करने का झांसा देकर पति की मौत का बहाना बनाता था। इसके बाद डॉलर भेजने के नाम पर ठगी करने लगता था।

Subscribe to our newsletter

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments