Tuesday, August 16, 2022
Homeक्राइमFlipkart-Amazon जैसी कंपनियों में ऑनलाइन पार्ट टाइम जॉब के नाम Rs 3,000...

Flipkart-Amazon जैसी कंपनियों में ऑनलाइन पार्ट टाइम जॉब के नाम Rs 3,000 करोड़ो की ठगी करने वाला गिरफ्तार, जानें- इसका चीन से कनेक्शन

नोएडा और बरेली साइबर पुलिस ने एक संयुक्त अभियान में फ्लिपकार्ट और अमेजन (Flipkart and Amazon) जैसी कंपनियों में ऑनलाइन पार्ट टाइम जॉब (Online Part Time Job) दिलाने के नाम देशभर में करोड़ों रुपये की साइबर ठगी (Cyber Fraud) करने वाले शख्स को हरियाणा के गुरुग्राम से गिरफ्तार किया गया। वह पश्चिम बंगाल के दक्षिण दिनाजपुर का रहने वाला है और गुरुग्राम में डॉफिन कंसल्टेंट सर्विस प्राइवेट लिमिटेड निदेशक के तौर पर काम कर रहा था। पूछताछ में उसने चीनी व्यक्ति के साथ मिलकर ठगी की बात कबूली है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार बरेली के रहने वाली एक युवती ने साइबर क्राइम थाना बरेली परिक्षेत्र,बरेली को सूचना दी थी कि उसे दिनांक 09.0.24 को VM-VNODEK नाम से एक एसएमएस (SMS) प्राप्त हुआ। इसमें एक लिंक पर क्लिक कर रिचार्ज करने और प्रत्येक रिचार्ज पर पैसा दोगुना होने का झांसा दिया गया और इस प्रकार गुमराह कर पीड़िता से करीब 2 लाख 40 हजeर रूपये की ऑनलाइन धोखाधड़ी की गयी। इसे लेकर साइबर क्राइम थाना बरेली ने मामला दर्ज किया। इसके बाद श्री सुभाष चंद्र अपर पुलिस महानिदेशक साइबर क्राइम (लखनऊ) के आदेश व प्रो० त्रिवेणी सिंह पुलिस अधीक्षक साइबर क्राइम के पर्यवेक्षण व श्री सच्चिदानन्द अपर पुलिस अधीक्षक साइबर क्राइम के कुशल निर्देशन में साइबर क्राइम थाना नोएडा व साइबर क्राइम थाना बरेली परिक्षेत्र की संयुक्त पुलिस टीम गठित की गई और साइबर मुख्यालय से अतिरिक्त तकनीकी सहयोग प्रदान किया गया।

जांच में पाया गया कि पीड़िता के खातों से ठगी की धनराशि तीन यूपीआई (Unique Payment Identification) खातों में ट्रांसफर की गई। तकनीकी साधनों से डाटा के विश्लेषण करने के बाद यह तथ्य सामने आया कि प्रकरण में ऑनलाइन धोखाधड़ी की धनराशि 3000 करोड़ से भी अधिक है और इस बड़ी धनराशि को भिन्न भिन्न बड़े क्रिप्टो एक्सचेंज और वॉलेट बनाकर आर भिन्न भिन्न फ़र्ज़ी कंपनियों/टस्ट व फर्म के खातों का उपयोग किया गया। अबतक 56 वॉलेट में करीब 443 करोड़ से अधिक की धनराशि ट्रांसफर करने की जानकारी सामने आई है। इसमें से 6 वॉलेट भारत के और शेष वॉलेट चीन ,फिलीपिन्स,मलेशिया व अन्य देशों से सम्बंधित हैं। इसी प्रकार अभी तक 46 में 42 फर्जी कंपनियों ,ट्रस्टों व फर्म के खातों का उपयोग कर 500 करोड़ रूपए से अधिक की धनराशि को भिन्न भिन्न माध्यम से ट्रांसफर कर इस्तेमाल किया गया।

यह भी उल्लेखनीय है कि उक्त प्रकरण में ही असम रूरल डेवलपमेंट सोसाइटी नाम से फर्जी एनजीओ बनाकर करीब 200 करोड़ रूपए ट्रांसफर करने वाले जयदेव डे निवासी गुवाहाटी पहले से ही ठाणे की जेल में है। इसी क्रम में साइबर क्राइम थाना नोएडा व साइबर क्राइम थाना बरेली परिक्षेत्र की संयुक्त टीम द्वारा गुरुग्राम हरियाणा से डॉफिन कंसल्टेंट सर्विस प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक मंजरूल इस्लाम पुत्र अबंदुल खालिक पता दक्षिण दिनाजपुर पश्चिम बंगाल को गिरफ्तार किया गया। पूछताछ में उसने बताया कि साइबर ठगी से अर्जित खाते से करीब 14 करोड़ रूपये को को चीन के निवासी लियॉन के साथ मिलकर भिन्न भिन्न कंपनियों में ट्रांसफर किए।

Follow The420.in on

 Telegram | Facebook | Twitter | LinkedIn | Instagram | YouTube

Subscribe to our newsletter

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.

Most Popular

Recent Comments