Sunday, January 29, 2023
Homeक्राइमSIM Swap: आपका सिम भी हो सकता है हैक, Hackers के पास...

SIM Swap: आपका सिम भी हो सकता है हैक, Hackers के पास आएंगे आपके OTP, जानिए कैसे बचेंगे आप

क्या आप जानते हैं कि आपके मोबाइल में लगा SIM भी हैक हो सकता है। जवाब है हां, SIM Swap ऐसा ही एक तरीका है जिससे Hackers कोआपके SIM का कंट्रोल मिल जाता है और आपका ओटीपी Hackers के पास पहुंच जाता है फिर आपके साथ साइबर फ्रॉड हो सकता है। तो फिर जानिए सिम स्वैप के बारे में।

SIM Swap से हैकर्स को मिल जाता है कंट्रोल

ऑनलाइन की इस दुनिया में रोज नए-नए Cyber Fraud सुनने को मिलते हैं और लोग रोज साइबर फ्रॉड के शिकार भी हो रहे हैं। तो आज हम एक ऐसा फ्रॉड बता रहे हैं जिससे आपके SIM Card को कंट्रोल कर साइबर जालसाजी की जा सकती है। ऐसा ही एक फ्रॉड है SIM Swap। दरअसल Hackers किसी भी यूजर्स को सिम स्वैप ट्रैप में फंसाने के लिए Telecom Operator से संपर्क करते हैं और Trapp में फंसा कर SIM का कंट्रोल हासिल कर लेते हैं। किसके लिए है कर अपने पास मौजूद किसी सिम पर यूजर के नंबर Activate करा लेते हैं और अगर एक बार ऐसा कर लेते हैं तो उनके पास आपके सिम कार्ड का कंट्रोल आ जाएगा।

ALSO READ: साइबर ठगों के निशाने पर आए क्रिप्टो निवेशक, एक छोटी सी गलती पर लगा चुके हैं हजारों करोड़ का चूना, जानें कैसे

कोई भी उस नंबर पर कॉल या मैसेज करेगा तो कॉल आपके पास ना पहुंचकर Hackers के पास जाएगी। यहां तक की यह इतना खतरनाक है कि OTP भी हैकर्स के पास जाएंगे। इस स्थिति में अगर Hackers आपके  Username और पासवर्ड का इस्तेमाल करके नेट बैंकिंग लॉगइन करता है तो उसे आप का ओटीपी भी मिल जाएगा। इसके साथ ही अगर आपका फोन नंबर किसी बैंक अकाउंट से जुड़ा है तो Hackers को आपके पासवर्ड की भी जरूरत नहीं पड़ेगी उसे सिर्फ आपके नंबर की मदद से किसी भी Digital Payment एप पर लॉग इन करना होगा और फिर उसका काम हो जाएगा।

ALSO READCyber Crime क्या हैं? कितने प्रकार के होते है Cyber Crime

आखिर क्या है SIM Swapping

सिम Swapping फ्रॉड का मतलब है कि आपके SIM का कंट्रोल किसी और के पास चला जाना। इसके लिए Hackers  सबसे पहले आपके बारे में डिटेल्स इकट्ठा करते हैं और Social Engineering का इस्तेमाल शुरू करते हैं। इसके तहत किसी भी यूजर्स के बारे में पर्याप्त जानकारी होने के बाद हैकर उसके Telecom Operator से कांटेक्ट करते हैं और बताते हैं कि उनका सिम कार्ड खराब हो गया है या खो गया है। फिर नया SIM Card Activate करने का आग्रह करते हैं और इस तरह साइबर क्रिमिनल को यूजर्स का सिम कार्ड मिल जाता है। जैसे ही साइबर क्रिमिनल के हाथ में आपका सिम कार्ड आएगा तो आपके साथ कई तरह के Cyber Fraud को अंजाम दिया जा सकता है।

और पढ़े: Hackers ने Qubit Finance से आठ करोड़ डॉलर की क्रिप्टोकरेंसी चुराया, कंपनी ने की फिरौती की पेशकश  

क्या है बचाव के उपाय

– फिशिंग मेल्स और Online Activity को लेकर अलर्ट रहें।

– अपने अकाउंट की Security को मजबूत रखने के लिए Strong Password का इस्तेमाल करें।

– समय-समय पर अपने Password को बदलते रहे।

– ऐप के लिए टू Factor Authentication ऑन रखें जिससे किसी भी ऐप में अनजान व्यक्ति का लॉगिन आसान नहीं हो।

– अगर आपको लगता है कि आप SIM Swapping के शिकार हुए हैं तो तुरंत ही अपने टेलीकॉम ऑपरेटर से संपर्क करें।

Follow The420.in on

 Telegram | Facebook | Twitter | LinkedIn | Instagram | YouTube

Subscribe to our newsletter

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.

Most Popular

Recent Comments