Saturday, December 3, 2022
Homeक्राइमOctober 1 से बदल गए हैं Credit Card के तीन नियम, आप...

October 1 से बदल गए हैं Credit Card के तीन नियम, आप भी Credit Card Holder है तो जानिए आप पर क्या होगा असर

अगर आप Credit Card का इस्तेमाल करते हैं तो आपके लिए यह खबर बहुत जरूरी है। 1 अक्टूबर से Credit Card से जुड़े कुछ नियम बदल गए है और 3 नए नियम लागू हो गए है। इन नियमों में बदलाव से Card Holder को बेहतर सुरक्षा के साथ-साथ बेहतर सेवा में मिलेगी। पूरी खबर पढ़ कर समझे क्या होगा नया बदलाव।

Credit Card में इस तरह का होगा बदलाव

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (Reserve Bank of India) ने अप्रैल 2022 में क्रेडिट कार्ड जारी करने के लिए नए मापदंड जारी किए थे और इन नए नियमों में Credit Card Cancelation, बिलिंग आदि से जुड़े नए प्रतिबंध शामिल किए गए थे। पहले Credit Card से संबंधित नए नियम 1 जुलाई से लागू किया जाना था लेकिन अब यह बदलाव 1 अक्टूबर 2022 से लागू किया जाएगा। नए बदलाव के तहत क्रेडिट कार्ड टोकेनाइजेशन कराने का नियम भी शामिल है।

ALSO READCyber Crime की रिपोर्टिंग के लिए गृह मंत्रालय ने जारी किया नया हेल्पलाइन नंबर, अब 155260 की जगह 1930 नंबर पर करें कॉल

यह होंगे नए बदलाव

– OTP की सहमति जरूरी: नए नियम के तहत Credit Card जारी करने वाले बैंक को कार्ड Active कराने के लिए कार्ड होल्डर से वन टाइम पासवर्ड (OTP) यानी होती थी की सहमति लेनी होगी और यदि Card को जारी करने के लिए 30 दिनों से अधिक समय तक ग्राहक द्वारा Active नहीं किया जाता है तो Customer से पूछ कर 7 दिन के अंदर बिना किसी शुल्क के Credit Card को बंद कर दिया जाएगा।

– Credit Card लिमिट अप्रूवल: इस नियम के तहत Credit Card जारी करने वाले बैंकों को यह सुनिश्चित करना होगा कि Card Holder से स्पष्ट सहमति प्राप्त किए बगैर किसी भी समय क्रेडिट कार्ड धारक को दी गई  Credit Limit का उल्लंघन नहीं किया जाए। इसके साथ ही कार्ड धारक से बगैर पूछे Card Limit की सीमा में किसी तरह का बदलाव नहीं किया जा सकेगा यानी बैंक को Customer से इसके लिए परमिशन लेनी होगी।

ALSO READ: देखिये कैसे यह लड़की कौन बनेगा करोड़पति के नाम पर कर रही है धोखाधड़ी, कॉल और व्हाट्सएप पर दिया जा रहा पैसे जीतने का लालच, रहें सावधान

– Interest Rate : क्रेडिट कार्ड पर ब्याज दर की वसूली के लिए Unpaid Charge, Tax टैक्स नहीं होगा और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (Reserve Bank of India) के सर्कुलर के अनुसार Unpaid Charge, Tax को Compound Interest के लिहाज से Capitalize नहीं किया जाएगा। ऐसा इसलिए कि क्रेडिट कार्ड के ब्याज के जाल में Customer ना करें। अब 1 अक्टूबर से Compound Interest बिलों पर नहीं लगा पाएंगे।

Follow The420.in on

 Telegram | Facebook | Twitter | LinkedIn | Instagram | YouTube

Subscribe to our newsletter

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.

Most Popular

Recent Comments