Unnao Case : डॉ. उदित राज ने Twitter पर रेप की फैलाई अफवाह, IT एक्ट में रिपोर्ट दर्ज, देखें FIR

Unnao Case Exclusive : पूर्व सांसद डॉ. उदित राज पर गलत और भ्रामक तथ्यों के साथ पब्लिक की भावनाएं भड़काने का आरोप है। IPC की धारा-153 यानी किसी व्यक्ति द्वारा द्वेषभाव से गलत बात करना जिससे उपद्रव की संभावना हो और आईटी एक्ट-66 में मामला दर्ज हुआ है।

udit raj
Unnao Case : डॉ. उदित राज (फाइल फोटो)

Unnao Case : यूपी के उन्नाव में दो लड़कियों की मौत के मामले में सोशल मीडिया पर मनगढ़ंत और फर्जी खबर फैलाने के आरोप में पूर्व सांसद डॉ. उदित राज (Dr Udit Raj) के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। आरोप है कि पूर्व सांसद ने ट्विटर (Twitter) पर मृत लड़कियों से बलात्कार और परिवारवालों पर दबाव डालकर शवों को जलाने का दावा किया था। हालांकि, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में बलात्कार की पुष्टि नहीं हुई और ना ही किसी परिजन ने दबाव का आरोप लगाया।

लिहाजा, डॉ. उदित राज पर आरोप है कि उन्होंने सोशल मीडिया पर गलत और मनगढ़ंत जानकारी दी। उन्नाव एसपी आनंद कुलकर्णी ने The420.in को बताया कि डॉ. उदित राज के खिलाफ आईपीसी की धारा-153 और आईटी एक्ट-66 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। ट्वीट में ये भी लिखा है कि डॉ. उदित राज को साबित्री बाई फूले के पूर्व सांसद ने फोन पर ये जानकारी दी थी। लिहाजा, इस बारे में भी गंभीरता से जांच की जा रही है।

डॉ. उदित राज ने क्या लिखा था ट्वीट में?

पूर्व सांसद डॉ. उदित राज ने 19 फरवरी शाम 3:17 बजे एक ट्वीट किया था। इस ट्वीट में लिखा था कि अभी-अभी सावित्री बाई फुलेजी पूर्व सांसद से दूरभाष पर बात हुई। मुश्किल से पुलिस ने उनको उन्नाव में पीड़ित से मिलने दिया। पीड़ित के घरवालों ने बताया कि बच्चियों के साथ बलात्कार हुआ है & मर्जी के खिलाफ लाशें जला दिया गया।

इस ट्वीट में डॉ. उदित राज ने कांग्रेस को टैग भी किया था। हालांकि, पुलिस की जांच और पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में रेप की पुष्टि नहीं हुई है। लिहाजा, इस तरह बिना तथ्यों की जानकारी ट्वीट कर लोगों की भावनाएं भड़काने को लेकर उन्नाव पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया।

कोतवाली SHO ने देर रात में खुद ही दर्ज कराई FIR

इस मामले को गंभीरता से लेते हुए उन्नाव के कोतवाली प्रभारी इंस्पेक्टर दिनेश चंद्र मिश्र ने 19 फरवरी की देर रात में एफआईआर दर्ज कराई। इसमें उन्होंने लिखा है कि 17 फरवरी को ग्राम बबुरहा में घटित घटना जिसमें दो लड़कियों की मृत्यु और तीसरी लड़की की गंभीर स्थिति को देखते हुए उसका इलाज कानुपर के अस्पताल में किया जा रहा है।

देखें FIR की कॉपी

Unnao Case FIR Copy

इस घटना के संबंध में डॉ. उदित राज द्वारा अपने ट्विटर अकाउंट से सोशल मीडिया पर गलत, भ्रामक और आम जनमानस में आक्रोशित कर देने वाली पोस्ट की गई। जिसमें लिखा है कि जिन लड़कियों की मृत्यु हुई है उनके साथ बलात्कार करने और उनके शव को गलत तरीके से जलाने के संबंध में टिप्पणी की गई है। जबकि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में किसी प्रकार के बलात्कार की पुष्टि नहीं हुई है।

सोशल मीडिया पर गलत और भ्रामक तथ्य देने वाले सभी पोस्ट का कर रहे रिव्यू, लेंगे एक्शन : एसपी उन्नाव

आनंद कुलकर्णी, SP, उन्नाव

सोशल मीडिया पर बिना तथ्यों और भ्रामक जानकारी देकर पब्लिक को भड़काने के आरोप में डॉ. उदित राज के खिलाफ आईपीसी की धारा-153 और आईटी एक्ट-66 में एफआईआर दर्ज की गई है। जैसा कि डॉ. उदित राज के ट्वीट में सावित्री बाई फूले के पूर्व सांसद से फोन पर बात करने का भी जिक्र है। इसलिए इसकी भी गंभीरता से जांच की जा रही है। इनके अलावा, सोशल मीडिया चाहे फेसबुक हो या ट्विटर या अन्य प्लैटफॉर्म, जहां-जहां गलत तथ्य, अफवाह फैलाने का प्रयास किया गया है, उन सभी का हम रिव्यू कर रहे हैं। गलत तथ्यों के साथ अफवाह फैलाने वालों की जांच की जा रही है। उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। -आनंद कुलकर्णी, SP, उन्नाव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here