Tuesday, August 16, 2022
Homeक्राइमCyber Fraud का शिकार YouTuber खुद बन गया ठग, सोशल मीडिया पर...

Cyber Fraud का शिकार YouTuber खुद बन गया ठग, सोशल मीडिया पर फेक अकाउंट बनाकर लगाने लगा लोगों को चूना

एक यूट्यूबर सिंगर से 5 हजार रुपये का साइबर फ्रॉड हुआ तो उसने भी इसी रास्ते पर चलने की ठान ली और ठग बन गया। आरोपी ने महिला के नाम से फर्जी इंस्टाग्राम अकाउंट बनाया। फिर लोगों को पैसे दोगुना करने का झांसा देने लगा। फिर वह अपने ही बुने जाल में फंस गया। आउटर जिला साइबर सेल ने आरोपी को हरियाणा के सिरसा से गिरफ्तार कर लिया।

आरोपी की पहचान हरियाणा के सिरसा निवासी 25 वर्षीय रजत अग्रवाल के रूप में हुई है। वह चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय सिरसा से 2021 में एमबीए कर चुका है। यूट्यूब और इंस्टाग्राम पर उसका रॉक स्टार के नाम से अकाउंट है। एक लाख से ज्यादा फॉलोवर हैं। पहले वह सिंगर्स के गाने को अपनी आवाज देकर वीडियो बनाकर अपने अकाउंट पर अपलोड करता था।

वेरिफाइड अकाउंट ने होने के कारण से सब्सक्राइबर्स कम थे। आरोपी ने एक कंपनी की मदद से एक गाना बनाया, लेकिन कंपनी ने शर्त रखी थी कि इसके विज्ञापन से आने वाली आमदनी पर कंपनी का अधिकार होगा। गाना बनाने में उसे दो लाख रुपये खर्च हुए थे।

और पढ़े :  झारखंड : जामताड़ा के साइबर अपराधियों को SIM सप्लाई कराने वाला ओडिशा का शिक्षक गिरफ्तार

आरोपी दूसरा गाना बनाना चाहता था। इसलिए उसने अपने पुराने फर्जी अकाउंट्स के जरिए ठगी करना शुरू कर दिया। वह अपने दो गूगल अकाउंट और एक इंस्टाग्राम अकाउंट के जरिए ठगी को अंजाम दे रहा था। आरोपी के कब्जे से पुलिस ने 15 लाख रुपये के ई-गिफ्ट कार्ड व ई-वाउचर और दो मोबाइल फोन बरामद किया है।

आउटर जिले के डीसीपी समीर शर्मा के अनुसार एक महिला ने शिकायत दी। उसने बताया कि दिव्या गर्ग नाम के एक इंस्टाग्राम अकाउंट पर पैसे दोगुना करने के बारे में लिखा हुआ देखा। उससे संपर्क किया। आरोपी ने उससे यूपीए के जरिए एक खाते में 1.70 लाख रुपये का लेन-देन किया। इसके बाद आरोपी ने टैक्स के रूप में जब 1.20 लाख रुपये की मांग की तो महिला को शक हुआ। उसने साइबर सेल में शिकायत की।

पुलिस ने संदिग्ध मोबाइल नंबर के आईपी एड्रेस, फोन कॉल डिटेल को खंगाला। जांच में पाया गया कि संदिग्ध का आईपी एड्रेस रजत अग्रवाल से जुड़ा है। पुलिस ने तकनीकी जांच के बाद 29 मार्च को सिरसा से रजत को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में बताया कि कुछ साल पहले इंस्टाग्राम पर वेरिफाइड अकाउंट बनवाने के लिए उससे पांच हजार की ठगी की गई थी। उसके बाद उसने अपना फर्जी अकाउंट बनाकर अन्य अकाउंट्स को सर्च करने लगा।

और पढ़े: PAN Card Fraud: कहीं आपके PAN Card पर किसी और ने तो नहीं लिया कर्ज, ऐसे करें चेक

इस दौरान उसे कुछ अकाउंट मिले, जिसमें कम समय में पैसे दोगुना करने की बात कही गई थी। मार्च 2022 में उसने ठगी करने के लिए दिव्या गर्ग नाम एक अकाउंट बनाया और लोगों को डबल मनी का ऑफर दिया। जो भी संपर्क करता। वह उनसे बैंक खाते में पैसे डलवाता था और पैसे को दोगुना करने की प्रक्रिया बताकर उन्हें ब्लूस्टोन डॉट कॉम जैसे प्रमुख पोर्टल से ई-गिफ्ट कार्ड व वाउचर लेकर उनकी फर्जी ईमेल खाते में भेजने के लिए कहता था।

उसके पास से पुलिस ने 15 लाख रुपये के ई-गिफ्ट कार्ड व ई-वाउचर और 02 मोबाइल फोन बरामद कर लिया। जांच के बाद पुलिस ने बताया कि उसने कोलकाता के एक युवक को पैसा दोगुना करने का झांसा देकर उसके दो बैंक खाते ले लिया और उसमें ठगी का पैसा मंगाने लगा और फिर उस युवक को वाउचर खरीदकर उनके ईमेल खाते पर डालने के लिए कहा था। बाद में वह वाउचर को पोर्टल पर बेचकर पैसा ले लेता था।

Follow The420.in on

 Telegram | Facebook | Twitter | LinkedIn | Instagram | YouTube

Subscribe to our newsletter

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.

Most Popular

Recent Comments