Friday, October 22, 2021
Homeक्राइमBihar Cyber Crime: 62 लोगों के साथ हुई लाखों रुपये की ठगी,...

Bihar Cyber Crime: 62 लोगों के साथ हुई लाखों रुपये की ठगी, साइबर अपराधियों ने बदला क्राइम करने का तरीका

गोपालगंज: बिहार में साइबर क्राइम की घटनाएं बढ़ती जा रही है। वहीं पूरे भारत में इस समय त्योहारों सीजन चल रहा है। इसी बीच ठगी की घटनाएं भी बढ़ती जा रही है। बिहार के गोपालगंज जिले में पिछले 12 दिनों में साइबर अपराधियों ने करीब 62 लोगों को ठगी का शिकार बनाया है। वहीं इस बार सबसे अजीब बात यह रही कि उन सभी लोगों के पास ना तो कोई कॉल आया, ना तो उन्होंने किसी का अपने पासवर्ड बताया। लेकिन फिर भी उनके साथ लाखों की ठगी हो गई।


इसके बाद पूरे जिले में हड़कंप मच गया है। जिसके बाद सभी लोगों ने इसकी सूचना अपने-अपने बैंक की शाखा दी है। इसके बाद बैंक प्रबंधक ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है। वहीं मामले की गंभीरता को देखते हुए बैंक प्रशासन ने इसकी सूचना पुलिस विभाग और साइबर क्राइम की टीम दी है। वहीं दोनों विभाग इस मामले की जांच में जुट गई। आपको बता दें कि इन सभी लोगों के खाते एसबीआई, एक्सिस बैंक, बैंक ऑफ इंडिया, सेंट्रल बैंक, पीएनबी समेत अन्य बैंकों के खाते थे।


साइबर अपराधियों ने अब ऑनलाइन ठगी करने का तरीका भी बदल दिया है। पहले अपराधी लोगों से फोन कर या फिर किसी भी लिंक पर क्लिक करके खाते की जानकारी ले लेते थे। जिसके बाद लोगों के अकाउंट को खाली कर देते थे।

इन मामलों में बढ़ोतरी के बाद सभी बैंक काफी सर्तक हो गए है। वह अपने ग्राहकों इस बात की जानकारी देने लगे थे कि आप किसी को खाते के बारे में जानकारी ना दे। जिसके बाद लोग भी अलर्ट हो गए है। लेकिन अब साइबर अपराधियों ने क्राइम करने का तरीका ही बदल दिया है. साइबर अपराधी लोगों के पास न तो कॉल आ रहे है, न किसी से पासवर्ड पूछा जा रहा है, फिर भी खाते से किस्तों में लाखों की ऑनलाइन खरीदारी हो जा रही है।


साइबर क्राइम को लेकर गोपालगंज के एसपी आनंद कुमार ने कहा कि साइबर अपराध से जुड़े मामलों की तहकीकात चल रही है। साइबर अपराधियों का नेटवर्क बड़ा है। बैंक किसी भी ग्राहक से गोपनीय जानकारी नहीं पूछता है. आम लोगों को भी साइबर क्राइम से बचने के लिए जागरूक होना पड़ेगा।

इम से बचने के लिए जागरूक होना पड़ेगा।

Subscribe to our newsletter

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.

Most Popular

Recent Comments