Friday, July 1, 2022
Homeक्राइमCyber Fraud: Canada में बेटे के एक्सिडेंट की WhatsApp Call पर दी...

Cyber Fraud: Canada में बेटे के एक्सिडेंट की WhatsApp Call पर दी जानकारी, डेढ़ लाख रुपये भेजने पर पिता के सामने आई चौंका देने वाली सच्चाई

पिछले कुछ समय से साइबर फ्रॉड पिक पर है। इसकी वजह साइबर ठगों (Cyber Criminals) द्वारा ठगी (Fraud) के नये-नये तरीके इजाद करना है। जिसमें थोड़ी सी लापरवाही या भूल किसी को भी उनका शिकार बना देती है। ऐसे ही पटियाला के रहने वाले शमशेर सिंह साइबर ठगों का निशाना बन गये। ठग ने कॉल कर बताया कि उनके बेटे का कनाड़ा में एक्सिडेंट हो गया। यह सुनते ही पिता हैरान रह गये। इतना ही नहीं आरोपी खुद को उनके बेटे के दोस्ता का पिता बताया। साथ ही इलाज के लिए तुरंत 1 लाख 40 हजार रुपये भेजने के लिए कहा। शमशेर सिंह ने तुरंत पैसे भेज दिये, लेकिन कुछ देर बाद उन्हें बेटे के एक्सिडेंट (Accident) के नाम पर ठगी होने का पता लगा। हालांकि उनकी शिकायत पर पुलिस ने ठगी करने वाले दो साइबर अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया है।

और पढ़े : सरकारी योजनाओं से लेकर फ्रेंचाइजी के लिये कर रहे हैं आवेदन तो जरूर पढ़ लें ये खबर, नहीं तो ठगी के अगले शिकार हो सकते हैं आप

दरअसल, पंजाब के पटियाला निवासी शमशेर सिंह ने बताया कि वह घर पर बैठे थे। इसी दौरान उनके पास एक वॉट्सऐप कॉल (Whatsapp Call) आया। कॉल करने वाले बताया कि उनके कनाड़ा में रहने वाले बेटे का एक्सिडेंट हो गया है। वह अस्पताल में भर्ती है। शमशेर सिंह ने कॉल करने वाले से उसका परिचय पूछा तो उसने बताया कि वह उनके बेटे के दोस्त का पिता बोल रहा है। साथ ही अस्पताल घायल बेटे के इलाज के लिए तुरंत 1 लाख 40 हजार रुपये भेजने की बात कहकर फोन काट दिया। घबराये पिता ने आनन फानन में 1 लाख 40 रुपये भेज दिये, लेकिन कुछ देर बाद जब उनकी बात बेटे से हुई तो ठगी होने का पता लगा। शमशेर ने मामले की शिकायत पटियाला थाना पुलिस को दी। पुलिस जांच में सामने आया कि उनके पैसे पटना के शास्त्री नगर स्थित बैंक (Bank) में गये हैं।

और पढ़े : भूलकर भी न करें ये नंबर डायल, एक Call से Hack हो जाएगा आपका WhatsApp अकाउंट और आपके दोस्त और परिवार हो जायेंगे साइबर अपराध के शिकार

पुलिस ने ऐसे दबोचे साइबर ठग
पुलिस ने शमशेर से मिली खाता नंबरों (Bank Account Number) को ट्रेस कर पटना बैंक की जानकारी निकाली। इसके बाद बैंक अकाउंट में लगे नंबरों के आधार पर आरोपी ठगों को ट्रेस किया। इसी के बाद पुलिस आरोपियों के पते पर पहुंच गई। साथ ही दोनों आरोपियों को दबोच लिया।

और पढ़े : सरकारी योजनाओं से लेकर फ्रेंचाइजी के लिये कर रहे हैं आवेदन तो जरूर पढ़ लें ये खबर, नहीं तो ठगी के अगले शिकार हो सकते हैं आप

इंजीनियरिंग और ग्रेजुएट हैं दोनों आरोपी
पुलिस ने आरोपियों का पता लगते ही उन्हें दरभंगा से दबोच लिया। पुलिस पूछताछ में पता चला कि एक आरोपी योगेश कुमार इंजीनियरिंग का स्टूडेंट है। जबकि विजय विक्रम ग्रेजुएशन पूरी कर चुका है। इतना ही नहीं आरोपियों का नेटवर्क काफी बड़ा है। आरोपी पिछले काफी समय से ठगी का ही धंधा कर रहे हैं।

Follow The420.in on

 Telegram | Facebook | Twitter | LinkedIn | Instagram | YouTube

Subscribe to our newsletter

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.

Most Popular

Recent Comments