Facebook बना ठगी का अड्डा, कभी ID हैक करके तो कभी फर्जी अकाउंट से लोगों को बना रहे शिकार

Cyber criminals are scanning profile of their target on Facebook and trapping them on the pretext of starting a business in India.

सोशल मीडिया साइट फेसबुक लोगों को ठगने का साधन बन गया है। साइबर ठग कभी लोगों को फर्जी अकाउंट बनाकर तो कभी अकाउंट हैक करके लोगों को ठगने की कोशिश कर रहे हैं। ठीक ऐसा ही मामला झारखंड के धनबाद स्थित सरायढेला कुसुम बिहार में सामने आया है। यहां के शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ विमल का फेसबुक अकाउंट हैक कर उनके करीबी दोस्तों से मदद के नाम पर पैसे मांगे। दर्जनों लोगों से उन्होंने संपर्क किया। किसी से 8000 किसी से 4000 किसी से 10000 रुपये की मांग की।

डॉक्टर को इस बात की खबर तब लगी जब उनके कुछ करीबियों ने उन्हें फोन किया। इसके बाद उन्होंने तत्काल इसकी सूचना साइबर डीएसपी सुमित लकड़ा को दी। इसके बाद साइबर थाना की पुलिस को भी लिखित शिकायत दी। हालांकि, डॉ. विमल के फेसबुक अकाउंट का इस्तेमाल करके लोगों को ठगने की कोशिश साइबर अपराधी सफल नहीं हुए, लेकिन पहले भी ऐसे कई मामले सामने आए हैं और लोग ठगी के शिकार भी हुए हैं। उन्हें भारी आर्थिक नुकसान का सामना करना पड़ा है।

नोएडा में बैंक कर्मचारी को चूना लगाया

ठीक ऐसा ही एक मामला नोएडा में सामने आया है। यहां पर एक बैंक कर्मचारी को ही साइबर ठगों ने चूना लगा दिया और उसके बैंक अकाउंट से हजारों रुपये निकाल लिए गए। यह ठगी भी फेसबुक के जरीए ही हुई है। साइबर ठगों ने पहले बैंक कर्मचारी मनोज कुमार के एक दोस्त सुधांशु कृष्णा की फर्जी फेसबुक प्रोफाइल बनाई फिर कुछ इमरजेंसी हालात बताकर उससे पैसे की मांग की। बैंक कर्मचारी ने तुंरत उसके अकाउंट में 16 हजार रुपये ट्रांसफर कर दिए।

दोस्त को फोन किया तो ठगी के बारे में पता चला

जानकारी के अनुसार पैसे भेजने के बाद सेक्टर-128 के एक्सिस हाउस में काम करने वाले मनोज ने अपने दोस्त को फोन किया। पूछा कि उसे पैसे मिले या नहीं? इसके बाद उसे ठगी के बारे में पता चला। फिर उसने साइबर सेल को सूचना दी थाना एक्सप्रेसवे में अज्ञात लुटेरों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here