Friday, August 19, 2022
Homeक्राइमDelhi Police Commissioner को भी अपना शिकार बना चुके हैं साइबर ठग,...

Delhi Police Commissioner को भी अपना शिकार बना चुके हैं साइबर ठग, इस छोटी सी भूल पर मिनटों में लगा दिया था 40 हजार का चूना

साइबर ठगों (Cyber Fraud) का जाल इस कदर फैल चुका है कि उन्होंने अनपढ़ और पढ़े लिखों से लेकर अपराधियों के छक्के छुड़ाने वाले दिल्ली पुलिस के कमिश्नर का भी अपना शिकार बना लिया। साइबर ठगी का शिकार हो चुके दिल्ली पुलिस के कमिश्नर (Delhi Police Commissioner) ने खुद बताया कि उनसे ठगों ने 40 हजार रुपये ऐंठ लिये थे। उन्हें इसका पता कुछ मिनटों बाद बैंक की ओर से मोबाइल पर आए मैसेज से लगा। जिसे देखकर वह भी चौंक गये।

दरअसल, अपने साथ ठगी का यह किस्सा दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने साइबर थाने (Cyber Police Station) के उद्घाटन कार्यक्रम में बताया। उन्होंने थाने में तैनात पुलिसकर्मियों से लेकर मौके पर मौजूद लोगों से अपने आधार कार्ड से लेकर पैन कार्ड व अन्य दस्तावेजों का सही जगह इस्तेमाल करने। साथ ही ठगों से चौंकने रहने की हिदायत दी। इस मौके पर पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना (Police Commissioner) ने बताया कि जब वह बीएसएफ की कमान संभाल रहे थे। उस समय साइबर ठगों ने महज कुछ मिनटों में उनसे 40 हजार रुपये ठग लिये। उन्हें इसका पता बैंक की तरफ से मोबाइल पर आए मैसेज से लगा।

और पढ़े: माता वैष्णो देवी के दरबार जाने की बना रहे हैं योजना तो हो जाएं सावधान! हेलीकॉप्टर सेवा के नाम पर हो रही है ठगी, जानें-पूरा मामला

पुलिस कमिश्नर को अनपढ़ साइबर ठगों ने ऐसे लगाया था चूना

बीएसएफ में तैनाती के दौरान पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना अहमदाबाद के एक कार्यक्रम में शिरकत कर लौट रहे थे। वहां से लौटते समय अचानक उनके मोबाइल की घंटी बजी। मोबाइल पर आधार कार्ड वेरिफिकेशन का मैसेज (Aadhar Card Verification) आया। एक के बाद एक दो तीन मैसेजों में वो ऐसे उल्झे की। कुछ ही मिनटों में उन्हें बैंक की तरफ खाते से 40 हजार रुपये निकलने का मैसेज आया। यह देखते ही वह हैरान रह गये। उन्होंने मामले की छानबीन कराई तो इसके पीछे साइबर ठगों (Cyber Fraud) का एक बड़ा नेटवर्क सामने आया। इतना ही नहीं नेटवर्क में ज्यादातर लोग अनपढ़ थे। यह लोग पढ़े लिखें और अच्छे अच्छे जानकार लोगों को मिनटों में चूना लगाने में एक्सपर्ट थे। इन लोगों से सतर्कता ही बचा सकती है।

पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना (Police Commissioner) ने बताया कि जब वह बीएसएफ की कमान संभाल रहे थे। उस समय साइबर ठगों ने महज कुछ मिनटों में उनसे 40 हजार रुपये ठग लिये। उन्हें इसका पता बैंक की तरफ से मोबाइल पर आए मैसेज से लगा।

और पढ़े: ट्रेन, फ्लाइट या हेलीकॉप्‍टर की ऑनलाइन टिकट बुकिंग करा रहे हैं तो रहें सावधान, हो सकती है ठगी

भूलकर भी किसी से शेयर करें ये चीजें, चौंकना रहने की जरूरत

साइबर अपराध के खिलाफ सबसे बड़ी दीवार आपका चौंकना रहना ही है। पुलिस कमिश्नर ने कहा कि अपने जरूरी दस्तावेज जैसे आधार कार्ड से लेकर पैन कार्ड, एटीएम, क्रेडिट कार्ड की जानकारियों को किसी से साझा न करें। अगर किसी को ये दस्तावेज देते हैं तो पहले पूरी तहकीकात कर लें। उन्होंने कहा कि आज के समय में ठगी का शिकार कोई भी हो सकता है। इस से बचने का सिर्फ एक ही तरीका है और वो है सावधानी व सतर्कता। दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने कहा कि साइबर अपराधियों से निपटने के लिए थाने की शुरुआत की गई है। इनकी कमर तोड़ने के लिए पुलिस लगातार प्रयास कर रही है, लेकिन आप को भी सजग रहने की जरूरत है।

Follow The420.in on

 Telegram | Facebook | Twitter | LinkedIn | Instagram | YouTube

Subscribe to our newsletter

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.

Most Popular

Recent Comments